कोणार्क चक्र (Konark wheel) और विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कोणार्क चक्र से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न

कोणार्क चक्र (Konark wheel)

आज के इस लेख में हम कोणार्क चक्र (Konark wheel) और उससे जुड़े अन्य महत्वपूर्ण तथ्यों और उससे जुड़े हुए विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं से संबंधित प्रश्नों के बारे में जानेंगे।

तो आइए जानते हैं……..

कोणार्क चक्र (Konark wheel)

भारत में आयोजित हुए G-20 सम्मेलन के दौरान ओडिशा के सूर्य मंदिर का ऐतिहासिक कोणार्क व्हील आकर्षण का प्रमुख केंद्र बिंदु बनकर उभरा है। यह कोणार्क चक्र सूर्य मंदिर का एक अभिन्न अंग है, जो सूर्य देवता को समर्पित है। इस मंदिर का निर्माण 13वीं शताब्दी (1238-1264 ई) में गंगवंश के राजा नरसिम्ह देव प्रथम के शासनकाल में किया गया था।

इस मंदिर को विशाल रथ के तौर पर डिजाइन किया गया है। यह मंदिर 7 घोड़ों और 12 जोड़ी उत्कृष्ट रूप से सजाए गए पहियों वाले बड़े रथ जैसा दिखाई देता है। ऐसा माना जाता है कि रथ के 12 जोड़ी पहिए वर्ष के 12 महीनों का प्रतिनिधित्व करते हैं और 24 पहिए दिन के 24 घंटे का प्रतिनिधित्व करते हैं।

इन पहियों का व्यास 9 फीट 9 इंच है और इनमें आठ चौड़ी तीलियाँ और आठ पतली तीलियाँ हैं, जिसमें प्रत्येक दो चौड़ी तीलियाँ 3 घंटे की अवधि को दर्शाती हैं, जो प्राचीन पत्थर के नक्काशी और शिल्प कौशल का चमत्कार है। पहियों पर विभिन्न पक्षियों और जानवरों के चित्रण के साथ-साथ पत्तेदार डिजाइनों की जटिल नक्काशी की गई है और इसकी तीलियों में लगे पदक विभिन्न मुद्राओं में महिलाओं की आकृतियां प्रदर्शित करते हैं। प्राचीन काल में दिन का समय जानने के लिए कोणार्क पहियों का उपयोग सौर घड़ी (सन डायल) के रूप में किया जाता था।

बेहतर जानकारी और निरंतर अपडेट रहने के लिए हमारे साथ टेलीग्राम और व्हाट्सएप में जरूर जुड़े

Join Telegram Join Whatsapp

FAQ:

प्रश्न: कोणार्क मंदिर में कितने चक्र हैं?

उत्तर: 12 जोड़ी चक्र

प्रश्न: कोणार्क का सूर्य मंदिर कहां स्थित है?

उत्तर: कोणार्क का सूर्य मंदिर भारत के उड़ीसा के पुरी जिले में स्थित है।

प्रश्न: कोणार्क का सूर्य मंदिर किस शैली में निर्मित है?

उत्तर: कलिंग शैली में

प्रश्न: कोणार्क के सूर्य मंदिर को यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल में कब सम्मिलित किया गया?

उत्तर: 1984 में

प्रश्न: कोणार्क का सूर्य मंदिर क्यों प्रसिद्ध है?

उत्तर: कोणार्क का सूर्य मंदिर अपनी उत्कृष्ट नक्काशी के लिए प्रसिद्ध है, साथ ही यहां बिना किसी घड़ी के भी दिन के समय को इंगित किया जा सकता है।

प्रश्न: कोणार्क सूर्य मंदिर का निर्माण किसने करवाया था?

उत्तर: कोणार्क सूर्य मंदिर का निर्माण 13वीं शताब्दी में गंगवंश के राजा नरसिम्हा-देव प्रथम ने अपने शासनकाल के दौरान करवाया था।

प्रश्न: कोणार्क मंदिर के देवता कौन हैं?

उत्तर: सूर्यदेव

प्रश्न: भारत का सबसे बड़ा सूर्य मंदिर कौन सा है?

उत्तर: कोणार्क सूर्य मंदिर

प्रश्न: कोर्णाक सूर्य मंदिर कितना पुराना है?

उत्तर: 13वीं शताब्दी में (1238-1264) इस मंदिर का निर्माण कार्य किया गया था।

प्रश्न: कोणार्क सूर्य मंदिर को और किस नाम से जाना जाता है?

उत्तर: काले ग्रेनाइट से निर्मित होने के कारण इसे काला पैगोडा भी कहा जाता है।

प्रश्न: कोणार्क सूर्य मंदिर के 12 जोड़ी सजावटी पहियों को कितने घोड़ो द्वारा खींचा जा रहा है?

उत्तर: 7

प्रश्न: कोणार्क सूर्य मंदिर के मुख्य आकर्षणों में से एक वार्षिक कोणार्क नृत्य उत्सव का आयोजन प्रतिवर्ष किस महीने किया जाता है?

उत्तर: दिसंबर

यह भी पढ़े:

चंबल नदी (Chambal River) और विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए चंबल नदी से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्नडिनारिक आल्पस (Dinaric Alps) और विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए डिनारिक आल्पस से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न
दिल्ली टोपरा स्तंभ (Delhi Topra Pillar) और विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए दिल्ली टोपरा स्तंभ से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्नदाचीगाम राष्ट्रीय उद्यान (Dachigam National Park) और विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए दाचीगाम राष्ट्रीय उद्यान से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न

यदि आप किसी भी प्रतियोगी परीक्षा (UPSC-STATE PCS-SSC-BANK-RAILWAY-POLICE-SI, इनके अलावा विभिन्न प्रकार के वन-डे एग्जाम्स) की तैयारी कर रहे हैं या फिर अपना नॉलेज बढ़ाने के उद्देश्य से विभिन्न प्रकार की बुक्स पढ़ने की इच्छा रखते हैं, तो नीचे दी गई बुक्स में से अपनी आवश्यकता और इच्छानुसार बुक्स का चयन कर सकते हैं……..धन्यबाद।

Bhugol | भूगोल | Ek samagra adhyayan | एक समग्र अध्ययन | 14th Edition | Mahesh Kumar Barnwal | Cosmos Publication |
Bhugol | भूगोल | Ek samagra adhyayan | एक समग्र अध्ययन | 14th Edition | Mahesh Kumar Barnwal | Cosmos Publication |
सम्बंधित लेख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय